What is WWW ? || और कैसे काम करता है ?
What is WWW ? || और कैसे काम करता है ?

What is WWW ? || और कैसे काम करता है ?

WWW डाक्यूमेंट्स का समूह होता है जो आपस में एक दूसरे से hypertext से जुड़े हुए होते है | hypertext document में टेक्स्ट, इमेज, ध्वनि आदि का समावेश होता है WWW internet की एक सेवा है| WWW का प्रयोग सबसे पहले TIM BERNERS LEE ने 1989 में CERN प्रयोगशाला में किया | वर्ल्ड वाईड वेब मे सूचनाओ को वेबसाईट के रूप मे रखा जाता है। ये वेबसाइटे वेब सर्वर पर हाईपरटैक्स्ट फाइलो के रूप संग्रहित होती है। वर्ल्ड वाईड वेब एक प्रणाली हैै, जिसके द्वारा प्रत्येक वेबसाइट को एक विशेष नाम दिया जाता है। उसी नाम से उसे वेब पर पहचाना जाता है।

WWW का पूरा नाम वर्ल्ड वाइड वेब (World Wide Web) है। इन्टरनेट और वर्ल्ड वाइड वेब का आपस में गहरा सबंध है जो दोनों एक दुसरे पर निर्भर हैं। वर्ल्ड वाइड वेब जानकारियों का भण्डार होता है जो लिंक्स के रूप में होता है दरअसल यह एक ऐसी तकनीक है जिसके कारण संसारभर के कंप्यूटर एक दुसरे से जुड़े हुए हैं। वर्ल्ड वाइड वेब HTML , HTTP , वेब सर्वर और वेब ब्राउज़र पर काम करता है।

वर्ल्ड वाइड वेब की कार्यप्रणाली

किसी वेबसाइट के नाम को उसका URL (Uniform Resource Locator) भी कहा जाता है। जब हम किसी वेबसाइट को खोलना चाहते है, ब्राउजर प्रोग्राम के पते वाले बाॅक्स या एड्रेस बार मे उसका नाम या URL भर देता है। इस नाम की सहायता से ब्राउजर प्रोग्राम उस सर्वर तक पहुचता है जहाॅ वह फाइल या वेबसाइट स्टोर की गयी है और उससे एक वेबपेज प्राप्त करने के बाद हमारे कम्प्यूटर पर ला देता है। उस सूचना को व्राउजर प्रोग्राम माॅनीटर की स्क्रीन पर प्रदर्शित कर देता है। उस वेबसाइट पर कई हाइपरलिंक भी हो सकते है। प्रत्येक हाइपरलिंक किसी अन्य वेबपेज या वेबसाइट का URL बताता है। उस लिंक को क्लिक करने पर ब्राउजर उसी वेबपेज या वेबसाइट तक पहुचकर उसे उपयोगकर्ता को उपलब्ध करा देता है। इस प्रकार उपयोगकर्ता किसी वेबसाइट को देख सकता है, जिसका URL या Name उसे पता हो।

WWW कैसे काम करता है ?

अभी तक हमने WWW क्या है और इसके history के बारे में जाना लेकिन अब हम जानेंगे की आखिर WWW काम कैसे करता है| एक बात का हमेशा ध्यान रखें की WWW और इन्टरनेट दोनों अलग अलग है| बहुत सारे लोग दोनों को एक ही चीज मानते हैं लेकिन ये दोनों अलग अलग हैं|

 

जब भी कोई user अपने web ब्राउज़र software के address बार में कोई URL enter करता है जैसे की www.guptatreepoint.com तो ब्राउज़र domain name server के पास इस specific URL के IP address के लिए request send करता है| जब ब्राउज़र को IP address मिल जाता है तो ब्राउज़र वेब page के लिए वेब server के पास HTTP protocol के माध्यम से request send करता है HTTP, ब्राउज़र और वेब server को एक दुसरे से communicate करने के तरीका को specify करता है|

 

वर्ल्ड वाइड वेब के प्रकार

HyperText Information System
Cross-Platform
Distributed
Open Standards and Open Source
Web Browser: provides a single interface to many services
Dynamic, Interactive, Evolving
Graphical Interface

वर्ल्ड वाइड वेब की कार्यप्रणालीclient के द्वारा वेब ब्राउज़र के एड्रेस बार में url एड्रेस टाइप किया जाता है |
URL किसी भी फाइल का एड्रेस होता है, जिसके तीन भाग होते है :-

  1. Protocol
  2. Domain name
  3. Path

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here