धारा 354 क्या है ? || स्त्री की लज्जा भंग करना
धारा 354 क्या है ? || स्त्री की लज्जा भंग करना

धारा – 354 क्या है ? || स्त्री की लज्जा भंग

कोई व्यक्ति स्त्री की लज्जा भंग उस व्यक्ति को दो साल की सजा या जुर्माना दोनों ही हो सकते है। धारा 354 क्या है ?

  1. अगर हो सके तो सबसे पहले महिला 100 नंबर की कॉल करें और पुलिस को अपनी स्तिथि से अवगत करवाए
  2. अगर हो सके तो उस पुरुष की ऑडियो या विडियो रिकॉर्डिंग करे |
  3. पैसा कितना मिलेगा ये कोर्ट पर निर्भर करता है वो आपके साथ हुए अत्याचार व आपकी हेशियत पर निर्भर करेगा।

धारा 354 क्या है ? | अदालत ने क्या कहा ?

“जो कोई भी यौन इरादे से बच्चे की योनि, लिंग, गुदा या स्तन को छूता है या बच्चे को ऐसे व्यक्ति या किसी अन्य व्यक्ति की योनि, लिंग, गुदा या स्तन को छूने को तैयार करता है या वह किसी अन्य व्यक्ति से यौन इरादे से संपर्क करता है …। .. शब्द’ किसी भी अन्य कार्य ‘के भीतर ही शामिल हैं, कृत्यों की प्रकृति, जो उन कृत्यों के समान हैं, जिन्हें विशेष रूप से’ एजुसेडम जेनिसिस ‘के सिद्धांत के आधार पर परिभाषा में वर्णित किया गया है। कृत्य उसी प्रकृति का होना चाहिए या उस के करीब होना चाहिए। पीडब्ल्यू -1 द्वारा कथित तौर पर ‘अभियोजन पक्ष का हाथ पकड़ने’ या ‘पैंट की खुली हुई ज़िप’ के कृत्यों को देखा गया है.

निष्कर्ष

इस धारा के अनुसार अगर पुरुष किसी महिला से छेड़छाड़ करता है या बलत्कार करने की कोशिश करता है और अगर वो बलत्कार नही कर पता है तो वो पुरुष इस धारा 354 IPC छेड़छाड़ के आरोप के अंतर्गत दोषी करार दिया जायेगा तो दोषी व्यक्ति को कम से कम 1 साल व ज्यादा से ज्याद 5 साल के कारावास या जुर्माने या दोनों से से दंडित किया जाएगा ये गैर जमानतीय (non-bailable) अपराध है इसमे कोर्ट ही जमानत देती है पर सजा सात साल से कम है तो अरेस्ट करने या नही करने की पॉवर पुलिस के पास है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here