तलाक के नये नियम2021 | तलाक में पुरुषों का अधिकार
तलाक के नये नियम2021 | तलाक में पुरुषों का अधिकार

तलाक के नये नियम 2021 | तलाक में पुरुषों का अधिकार

तलाक के नये नियम2021 भारत में तलाक (Ground Of Divorce) की दो परम्परा चल रही है, एक तो आपसी सहमति से तलाक और दूसरा एकतरफा अर्जी कोर्ट में लगाकर तलाक (Divorce) लेना। पहले तरीके में आसानी से और राजी-खुशी के साथ में संबंध को खत्म किया जा सकता है। आपसी रजामंदी होने से इसमें वाद-विवाद, एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप जैसी कोई बातें नहीं होती हैं। बहुत ही आसानी के साथ में रिश्तों के समाप्त (Divorce) करने की होने वाली प्रक्रिया बहुत ही आसान होती है। तलाक के नये नियम2021

यह भी पढ़ें: धारा 326A क्या है? || IPC SECTION 326A IN HINDI

इसे भी पढ़े: धारा 310 क्या है? || IPC SECTION 310 IN HINDI

यह भी पढ़ें: धारा 312 क्या है? || IPC SECTION 312 IN HINDI

तलाक के नये नियम 2021

चार लोगों के सामने या पंच के सामने आपसी सहमति से होने वाले तलाक (Divorce) में कुछ चीजों को बहुत ही ध्यान रखा जाता है, उसमें सबसे महत्वपूर्ण होता है, पत्नी को को गुजरा भत्ता देना। पत्नी हमेशा ही आर्थिक तौर पर अपने पति पर निर्भर होती है। ऐसी दशा में जब तलाक (Divorce) होता है, तो पत्नी के जीवनयापन के लिए सक्षम साथी को एक दूसरे के गुजरा भत्ता देना होता है। इसके अलावा अगर शादी के बच्चे हुए हैं, तो ऐसी स्थिति में भी बच्चों की देखभाल से लेकर उनकी पढ़ाई लिखाई का गुजारा भत्ता देना पड़ता है। चाइल्ड कस्टडी शेयर्ड यानी मिल-जुलकर या अलग-अलग हो सकती है। इसमें भी बच्चे को संभालने वाले व्यक्ति को ही मद्द करनी होती है।

इसे भी पढ़ें: धारा 313 क्या है? || IPC SECTION 313 IN HINDI

यह भी पढ़ें: धारा 308 क्या है? || IPC SECTION 308 IN HINDI

इसे भी पढ़े: धारा 302 क्या है? || IPC SECTION 302 IN HINDI

तलाक के लिए क्या दस्तावेज दाखिल करने हैं?

  1. पति का पता प्रमाण
  2. पत्नी का पता प्रमाण
  3. विवाह प्रमाण पत्र
  4. पति और पत्नी की शादी के चार पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  5. जीवनसाथी साबित करने वाले साक्ष्य एक वर्ष से अधिक समय से अलग रह रहे हैं
  6. सुलह के असफल प्रयासों से संबंधित साक्ष्य
  7. पिछले 2-3 वर्षों के लिए आयकर विवरण
  8. पेशे का विवरण और वर्तमान पारिश्रमिक
  9. पारिवारिक पृष्ठभूमि से संबंधित जानकारी
  10. याचिकाकर्ता के स्वामित्व वाली संपत्तियों और अन्य संपत्तियों का विवरण

यह भी पढ़ें: धारा 297 क्या है? || IPC SECTION 297 IN HINDI

इसे भी पढ़े: धारा 292 क्या है? || IPC SECTION 292 IN HINDI

यह भी पढ़ें: धारा 171 क्या है? || IPC SECTION 171 IN HINDI

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here